विदेश में बैठी महिला मित्र कर रही दीप सिद्धू की मदद,आंदोल’न का कई वीडियो सोशल मीडिया पर डाल रही

New Delhi: लाल किले पर एक धार्मिक ध्वज लहराए जाने के मुख्य आरोपी दीप सिद्धू (Deep Sidhu) वीडियो बनाने के बाद अपनी महिला मित्र को भेजता है और वही उसे सोशल मीडिया (Social Media) के अलग अलग प्‍लेटफॉर्म में अपलोड करती है.

गणतंत्र दिवस (Republic Day) के दिन किसानों की ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) में हुई हिंसा और लाल किले पर एक धार्मिक ध्वज लहराए जाने के मुख्य आरोपी दीप सिद्धू (Deep Sidhu) के बारे में अब तक पुलिस को कोई जानकारी हाथ नहीं लगी है. दीप सिद्धू को पकड़ने के लिए पंजाब पुलिस की कई टीम लगातार छापेमारी कर रही है लेकिन दीप लगातार पुलिस को गच्‍चा देने में कामयाब हो रहा है. हालांकि दीप सिद्धू लगातार अपने आपको बेगुनाह साबित करने के लिए वीडियो संदेश भेज रहा है. ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर ये वीडियो कहां से भेज जा रहे हैं और पुलिस उसके लोकेशन का पता क्‍यों नहीं लगा पा रही है.

इस पूरे प्रकरण में अब एक्टर दीप सिद्धू के बारे में पुलिस को एक चौंकाने वाली जानकारी हाथ लगी है. पुलिस की ओर से दावा किया गया है कि पंजाबी गायक जो भी वीडियो फेसबुक या अन्य सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर अपलोड करता है, उसके पीछे सिद्धू की एक बेहद करीबी महिला मित्र है.

जानकारी के मुताबिक दीप सिद्धू वीडियो बनाने के बाद अपनी महिला मित्र को भेजता है और वही उसे सोशल मीडिया के अलग अलग प्‍लेटफॉर्म में अपलोड करती है. खास बात ये है कि दीप सिद्धू की ये महिला मित्र भारत से बाहर विदेश में बैठकर ये काम कर रही है. पुलिस का कहना है कि दीप जांच एजेंसी को भटकाने के लिए इस तरह के हथकंडे अपना रहा है. पुलिस ने कहा है कि दीप एक शातिर अपराधी की तरह ही पुलिस के साथ लुकाछुपी का खेल खेल रहा है.

गौरतलब है कि दीप सिद्धू ने कुछ दिन पहले ही फेसबुक लाइव के जरिए किसान नेताओं को खुली चेतावनी दे दी थी. खुद को गद्दार कहे जाने से नाराज सिद्धू ने किसान नेताओं को धमकी दी थी कि अगर उन्‍होंने अपना मुंह खोला और किसान आंदोलन की अंदर की बातें खोलनी शुरू कीं तो इन नेताओं को भागने का रास्‍ता भी नहीं मिलेगा. दीप सिद्धू ने कहा कि मेरी बात को डायलॉग न समझें , ये बात याद रखना, मेरे पास हर बात की दलील है. मानसिकता बदलो.

source- News 18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *