आरपार की लड़ाई शुरू : PM नेतन्याहू का ऐलान- फिलिस्तीन को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी

New Delhi : इजरायल और फलस्‍तीन के बीच चल रहे विवाद में अब जंग जैसे हालात बन गए हैं, इजरायली हवाई हमले के जवाब में फलस्‍तीनी आतंकी गुट हमास ने अब तक का सबसे बड़ा हमला किया है। हमास ने एक के बाद एक 100 रॉकेट तेलअवीव और अन्‍य आबादी वाले इलाकों की ओर दागे। इस हमले की चपेट में आने से एक भारतीय नर्स की मौत हो गई, भारतीय नर्स सौम्‍या संतोष केरल की रहने वाली थीं। केंद्रीय मंत्री बी मुरलीधरन ने ट्वीट कर मौत की पुष्टि भी की। दोनों देशों के हमले में 10 बच्चों समेत 35 लोगों की जान चली गई जबकि दो इजराइली महिलाओं की मौत हुई।

इससे पहले इजरायल ने हमास के इलके में स्थितव हनादी टावर को अपने हवाई हमले में तबाह कर दिया था। इसके बाद हमास की ओर से यह बदले की कार्रवाई की गई है। उधर, इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू ने जंग जैसे हालात को देखते हुए लोड इलाके में आपातकाल की घोषणा कर दी है। गाजा पट्टी का ये वो ही इलाका है जहां इजारयल के बारूदी ट्रेलर ने आतंकी संगठन हमास को मुंहतोड़ जवाब दिया, इजरायल के विदेश मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि इजरायल के इस हमले में हमास के 20 ज्यादा लोग मारे गए। हमास ने 40 घंटे में 1000 रॉकेट दागे।
दरअसल पहले हमास के आतंकियों ने इजरायल पर रॉकेट दाग कर हमला किया, जिसके जवाब में इजरायल ने रात के वक्त गाज़ा पट्टी पर मौजूद हमास के आतंकी कैंपों पर बारूद बरसा कर उन्हे तबाह कर दिया। आपको बता दें कि येरूशलेम की अल अक्स मस्जिद पर शुरू हुआ संघर्ष अब बड़ा रूप अख्तियार कर चुका है। हालात इतने खराब हैं कि इजरायल और फलिस्तीनी आतंकी संगठन हमास आमने-सामने हैं।
इजरायल की राजधानी यरुशलम में बनी अल-अक्सा मस्जिद फिलिस्तीन और इजरायल के बीच लंबे वक्त से विवाद का सबब है। विवाद की जड़ कम से कम 100 साल पुराना है और इजरायल और फिलिस्तीन के बीच संघर्ष भी लगभग इतना ही पुराना मान लीजिए। आपको बता दें… कि जहां इजराइल है, वहां कभी तुर्की का शासन हुआ करता था, जिसे ओटोमान साम्राज्य कहा जाता था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *