सिद‍्धू का कैप्टन पर वार- पार्टी सहयोगियों के कंधों पर बंदूक रखकर फायरिंग बंद करो

New Delhi : कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्दधू और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच छिड़ी जंग थमने का नाम ही नहीं ले रही है। इस बीच एक बार फिर नवजोत सिंह सिद्दधू ने सीएम अमरिंदर पर हमला बोला है, उन्होंने कहा है कि वो अपने कैबिनेट सहयोगियों के माध्यम से उन पर छद्म हमला करना बंद करें। बता दें कि पंजाब के सात मंत्री- गुरप्रीत कंजर, बलबीर सिंह सिद्धू, भारत भूषण आशु, विजय इंदर सिंगला, ब्रह्म मोहिंद्रा, सुंदर शाम अरोरा और साधु सिंह धर्मशाला ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए सिद्दधू के खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग की। क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्दधू गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और उसके बाद हुई पुलिस फायरिंग की घटनाओं में न्याय में कथित देरी को लेकर राज्य सरकार और सिंह पर बार-बार हमला बोलते रहे हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट कर कहा कि ‘कल और आज, मेरी आत्मा की मांग है कि गुरु साहिब के लिए न्याय है, कल भी इसे दोहराएंगे! पंजाब की अंतरात्मा पार्टी लाइन से बढ़कर है, पार्टी सहयोगियों के कंधों पर बंदूक रखकर फायरिंग बंद करे। आप सीधे जिम्मेदार और जवाबदेह हैं – महान गुरु के दरबार में आपकी रक्षा कौन करेगा?’
अमृतसर से दो बार के भाजपा सांसद नवजोत सिद्धू को 2014 के लोकसभा चुनावों में इस सीट से टिकट नहीं मिला। इसके बाद उन्हें 2016 में बीजेपी की तरफ से राज्यसभा में भेजा गया। इसके बाद वो पार्टी से इस्तीफा दे दिए और एक साल बाद कांग्रेस में शामिल हो गए। 2017 के पंजाब विधानसभा चुनावों में 42,809 मतों के अंतर से अमृतसर पूर्व सीट से चुनाव जीते। इसके बाद उन्हें पंजाब कैबिनेट में शामिल किया गया। हालांकि कैप्टन अमरिंदर के साथ राजनीतिक संबंध ठीक न होने की वजह से सिद्धू ने 2019 में मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *