गली मोहल्ले की सफाई करते-करते दुनिया में छा गया ये शख्स, एक तस्वीर के वायरल होने पर बन गया मॉडल

New Delhi: कहते हैं जिंदगी में सब कुछ वक्त पर निर्भर होता है. कोई नहीं जानता है कि आने वाला वक्त उसके लिए क्या लेकर आ रहा है. कई बार ऐसा होता है कि इंसान की जिंदगी एक तस्वीर से बदल जाती है. बिल्कुल ऐसा ही हुआ है रूस (Russia) में रहने वाले एक सफाईकर्मी के साथ. इस सफाईकर्मी का नाम युरा (Yura) है. युरा के एक दोस्त ने उनकी कुछ तस्वीरें कैप्चर की, जिसके बाद से उनकी जिंदगी बदल गई. दरअसल, रोमान (Roman Filippov) पेशे से फोटोग्राफर हैं. उन्होंने एक ऑनलाइन फोटो प्रोजेक्ट के लिए अपने दोस्त युरा (Street Cleaner From Russia) की तस्वीरें खींची. ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर छा गई. जानिए पूरा मामला. 

बदल गई युरा की जिंदगी

फोटोग्राफर रोमान इन तस्वीरों के माध्यम से ये दिखाना चाहता था कि युरा (Street Cleaner From Russia Who Look Alike Model) की जिंदगी कितने मुश्किल दौर से गुजर रही है. उन्होंने क्या-क्या संघर्ष किए हैं. लेकिन ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर लोगों को इतनी पसंद आई कि युरा की जिंदगी ही बदल गई. रोमान ने ये तस्वीरें फेसबुक पर भी शेयर की हैं.

बचपन से हैं दोनों दोस्त 

रोमान बताते हैं कि वो और यूरा एक कैंप में मिले थे. उनकी मां वहां काम करती थी. और अब यूरा इलाके में गलियां साफ करने का काम करता है. एक दिन उनकी मां ने यूरा को चाय पिलाई. उनके घरवालों को युरा के हालात पता चले तो उन्होंने युरा की मदद भी की. रोमान की आंटी ने भी यूरा की बहुत मदद की. वो बचपन से ही अनाथ था. इसके बाद वो मानसिक दिक्कतों से भी जूझ रहा था. उनकी आंटी ने यूरा की मदद की और उसे कभी अनाथ नहीं महसूस होने दिया.

 

तस्वीरों के माध्यम से बताया यूरा की कहानी

रोमान एक बेहतरीन फोटोग्राफर हैं जिन्होनें तस्वीरों के जरिए युरा का अकेलापन और उसके संघर्ष की पूरी कहानी बताई. युरा ने कई दफा ऐसे लोगों की मदद भी की जो उसके जैसी ही जिंदगी जी रहे थे. लेकिन सबने उसका फायदा उठाया. यहां भी रोमान की आंटी ने उनके लिए कदम बढ़ाए और उन्हें इन लोगों से दूर किया. युरा पहले जिनके पास काम करता था वहां उसका शोषण किया जाता था. उनलोगों ने उसे लोन भी दिलवा दिया था ताकि वो उनके पास रहकर ही काम करता रहे. युरा का वजन भी काफी कम हो गया था. वो लोग उसे अच्छा खाना भी नहीं देते थे. फिर एक दिन आहात होकर वो वहां से भाग गया. कई किलोमीटर पैदल चलने के बाद वो रोमान की आंटी Babanya से मिला जो यूरा की मदद करती थीं.

अब है खुद का काम

लेकिन अब युरा की जिंदगी बदल गई है. आज युरा खुद गलियां साफ करने का काम करते हैं. घर पर पौधे उगाते हैं. कविताएं लिखते हैं, खाना बनाते हैं. तस्वीरों के माध्यम से रोमान दिखाना चाहते थे कि हर किसी को जिंदगी में ऐसे मौके नहीं मिलते. एक लंबे सफर के बाद ही उसे मंजिल मिलती है. ये युरा का सब्र और उस दुनिया से दूर भागना ही है जो आज उसे एक ऐसे मुकाम पर खड़ा कर रखा है जहां दुनिया उन्हें देख रही है.

नए लुक में किया तैयार 

रोमान ने युरा को एक बिलकुल नए लुक में तैयार करवाकर भी तस्वीरें खींची. आपको बता दें कि रोमान के इस प्रोजेक्ट से पब्लिकेशन वाले भी काफी खुश हुए, उन्होंने भी इसे जगह दी. इंटरनेट यूजर्स ने भी यूरा के लिए 12000 डॉलर (लगभग 8 लाख रुपये) फंड दिया.

संघर्ष की मिसाल हैं युरा

मेहनत करने वालों के चेहरे पर एक अलग चमक होती है. अब सोशल मीडिया पर युरा को कई ऐड भी मिल रहे हैं. लोग उनकी तस्वीरों के साथ उनकी जिंदगी के बारे में जानकर खुश हो रहे हैं. यकीनन युरा की कहानी उन सभी के लिए भी प्रेरणादायी होगी जो अपने जीवन में संघर्ष कर रहे हैं.

 

source- Zeenews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *