बड़बोले भट‍्ट : पूजा बोलीं- गम भुलाने के लिये भी करते हैं नशा, चाचा भट‍्ट ने कहा- बेवजह बदनाम कर रहे लोग

New Delhi : बॉलीवुड में भट्ट परिवार का विवादों से बड़ा पुराना नाता है। खुद महेश भट्ट हो या उनकी बेटी पूजा भट्ट अपने अजीबों गरीब बयानों की वजह से हमेशा खबरों में बने रहते हैं ।आधुनिकता के नाम पर यह परिवार तमाम तरह के उलटे- सीधे हथकंडे अपनाता है।अभी हाल में महेश भट्ट ने सुशांत सिंह राजपूत के मामले में फिर से अपने बड़बोलेपन को दिखाकर अपनी इज्जत की धज्जियां उड़ा ली। सुशांत का प्रकरण थमा भी नहीं है कि बॉलीवुड में ड्रग्स की चर्चा भी आजकल जोरों पर है । सुशांत केस की कड़ी कहीं न कही नशे से भी जुड़ती नजर आ रही है । और इस मामले ने बॉलीवुड को भी अपने लपेटे में ले लिया है जिससे फ़िल्मी सितारों में हडकंप -सा मच गया है।

फिल्म इंडस्ट्री के बड़े से बड़े कलाकार इस मुद्दे पर जहाँ अपनी कोई भी टिप्पणी देने से कतरा रहा है। वैसे में महेश भट्ट की सुपुत्री कहाँ चुप बैठने वाली थी कूद पड़ी ज़बानी जंग में । मुहं भी खोला तो ऐसा की लोगों ने फिर से ट्रोल करना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा है कि लोग नशे का इस्तेमाल सिर्फ मौज मस्ती के लिए ही नहीं करते हैं बल्कि कुछ लोग अपने ग़मों को भुलाने के लिए भी नशे का सेवन करते हैं ।

 

इधर महेश भट्ट के भाई विक्रम भट्ट ने अपना अलग ही राग अलापा है। उन्हें लगता है कि हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री को नशे के नाम पर बदनाम किया जा रहा है । एक इंटरव्यू में विक्रम ने कहा है कि नशे का इस्तेमाल तो हर क्षेत्र में होता है । ये कौन नहीं जानता है फिर बॉलीवुड को ही सिर्फ टारगेट क्यों किया जा रहा है ? उन्होंने यह भी कहा कि वो खुद पिछले 20 साल से शराब और सिगरेट को बिलकुल हाथ भी नहीं लगाये हैं । बॉलीवुड में जिस नशे की बात हो रही है उसके बारे में वो कुछ भी नहीं जानते । विक्रम ने यह भी कहा कि पिछले कुछ अरसे से वो किसी फ़िल्मी पार्टी में नहीं गए हैं इसलिए इस मुद्दे पर उनके लिए बात करना सही नहीं है ।

 

एक तरफ विक्रम भट्ट शराब और सिगरेट छोड़ने की बात कर रहे हैं वही दूसरी तरफ पूजा भट्ट ने ट्विट कर लिखा है कि ‘क्या किसी को परवाह है उन लोगों के बारे में जो समाज के एक कोने में रहते हैं, जो नशे का इस्तेमाल अपनी जिंदगी के दर्द को भुलाने के लिए करते हैं? वो लोग जो इतनी चोट खा चुके हैं, टूट चुके हैं कि बेहद गरीबी और मारकाट के बीच अपने सपनों का पीछा करने के बजाए ऐसे पदार्थों का पीछा करते हैं? क्या उनके पुर्नवास में किसी को दिलचस्पी है?’ उनकी ओर से यह बयान आना था कि तुरन्त वह लोगों के निशाने पर आ गयी । कुछ ने उन्हें चरसी पूजा कह कर लताड़ लगाई तो कुछ ने उन्हें पूरी तरह बेशर्म ही करार दिया ।

 

ये वही पूजा भट्ट हैं जिन्होंने अभी कुछ दिन पहले अपने आप को शराब के नशे से मुक्त होने का ऐलान किया था । उन्होंने यह भी कहा था कि बहुत कम उम्र में ही उन्हें इसकी लत लग गयी थी जिससे उनका पूरा फ़िल्मी करियर ही तबाह हो गया । पूजा के इस इकबालिया बयां के बाद ये ट्वीट निश्चय ही काफी भ्रामक है। एक तरफ नशे से लोगों को बचाने की जद्दोजहद चल रही है वही दूसरी ओर इतने गंभीर मुद्दे को भी भट्ट कंपनी अपने बेसिरपैर के बयानों से अलग ही दिशा देने में लगा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *