जी टीवी और एंड टीवी को चुनाव आयोग ने भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’…बीजेपी के प्रचार का लगा आरोप

Quaint Media

New delhi: चुनाव आयोग ने ज़ी टीवी और उसके ग्रुप चैनल एंड टीवी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है क्योंकि कांग्रेस पार्टी ने चैनल पर सरकार की योजनाओं को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था। मुंबई मिरर के मुताबिक EC को जवाब देने के लिए चैनलों के पास 24 घंटे का टाइम है। कुछ दिनों पहले कांग्रेस ने बीजेपी के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज की थी। कांग्रेस पार्टी ने कहा कि बीजेपी आचार संहिता का उल्लंघन कर रही है.. कांग्रेस ने टीवी शो जैसे भाभीजी घर पर हैं,तुझसे है राब्ता जैसे सीरियल्स पर उज्ज्वला योजना, स्वच्छ भारत अभियान और मुद्रा लोन स्कीम जैसी योजनाओं को प्रमोट करने का आरोप लगाया है।

Quaint Media

कांग्रेस पार्टी का दावा है कि ये पेड न्यूज वर्जन है..जी मराठी सीरियल तुला फुटे रे के जरिए भी मेक इन इंडिया क प्रमोट किया जा रहा है..तो बिल्कुल गलत है कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने चुनाव आयोग के इस फैसले  का स्वागत किया और कहा कि ये एक गंभीर मामला था और चुनाव आयोग से कार्रवाई की उम्मीद है…चैनलों ने पिछले काफी दिनों से आचार संहिता का उल्लंघन किया है…हमने मांग की थी कि चैनलों को उल्लंघन के लिए सस्पेंड किया जाए।

वहीं चैनलों के  एक प्रवक्ता ने यह कहकर अपना बचाव किया कि ये कंटेंट पब्लिक इंटरेस्ट को ध्यान में रखकर लिखा गया था। हालांकि अभी तक मेकर्स ने कारण बताओ’ का कोई जवाब नहीं दिया है..प्रवक्ता ने कहा कि एक जिम्मेदार राष्ट्रीय टेलीविजन नेटवर्क के रूप में ज़ी ने हमेशा अपने कंटेंट को गाइडलाइन फॉलो करते हुए बनाया है.. कुछ शोज के कुछ एपिसोड्स में सरकारी पहल का जिक्र सिर्फ जनता के हित के लिए किया गया था..।