Birthday Special : ‘लेकर हम दीवाना दिल’ गाने से बनी टॉप एक्ट्रेस नीतू सिंह

NEW DELHI : 70 के दशक की चुलबुली एक्ट्रेस नीतू सिंह (NEETU SINGH) का 8 जुलाई को जन्मदिन है। नीतू कपूर को हिंदी सिनेमा जगत में 53 साल हो गए हैं। नीतू कपूर आज अपना 61वां जन्मदिन मना रही हैं।

नीतू कपूर (NEETU KAPOOR) ने बॉलीवुड में बतौर बाल कलाकार एंट्री ली थी। 8 साल की उम्र से फिल्मों में काम करने वालीं नीतू सिंह का असली नाम हरनीत कौर सिंह है। 15 साल की उम्र में नीतू सिंह ने फिल्म ‘रिक्शावाला’ से बतौर लीड एक्ट्रेस बॉलीवुड में डेब्यू किया था। हालांकि, उनकी यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह पिट गई थी। इस फिल्म में नीतू के अपोजिट रणधीर कपूर थे।

करियर के शुरुआती दिनों में लगातार फ्लॉप फिल्में देने वाली नीतू ने ‘यादों की बारात’ फिल्म में डांसर का किरदार निभाया था। इस फिल्म का गाना ‘लेकर हम दीवाना दिल’ सुपरहिट हुआ और नीतू को कई फिल्मों में लीड रोल मिले। इसके अलावा ‘दस लाख’, ‘वारिस’ और ‘पवित्र पापी’ जैसी कई फिल्में की। इसके बाद उन्होंने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

नीतू सिंह को आज की पीढ़ी रणबीर कपूर (RANBIR KAPOOR) की मां के रूप में भी जानती है। वहीं, एक बड़ा तबका उन्हें ऋषि कपूर (RISHI KAPOOR) की पत्नी के रूप में भी जानता है। बीते दौर के लोग उन्हें राज कपूर की बहू के रूप में जानते हैं लेकिन इन सबसे से अलग नीतू सिंह की अपनी एक अलग पहचान रही हैl

LIVE INDIA

नीतू और ऋषि की लव स्टोरी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। फिल्म ‘बॉबी’ की शूटिंग के दौरान ऋषि ने पहली बार नीतू को देखा था। ऋषि कपूर को उनकी सादगी बहुत पसंद आई थी। ऋषि और नीतू पहली बार फिल्म ‘जहरीला इंसान’ में नजर आए थे। रिपोर्ट के अनुसार इस फिल्म के सेट पर ऋषि ने नीतू को खूब सताया था। इसके बाद वे शूटिंग के लिए विदेश चले गए। विदेश से टेलीग्राम के जरिए ऋषि ने नीतू से अपने प्यार का इजहार किया था। उस वक्त ऋषि ने नीतू से कहा था कि- ‘ये सिखणी बड़ी याद आती है’।

नीतू कपूर एन इंटरव्यू में बताया कि उनकी मां को बॉलीवुड इंडस्ट्री के अभिनेता बहुत ही कम पसंद थे। जिसके कारण नीतू ने अपने अफेयर के बारें में मां को कुछ नहीं बताया था। जब उन्हें अपनी बेटी के अफेयर के बारें में पता चला तो वह काफी गुस्सा हुई। इसके साथ ही नीतू की खूब पिटाई कर दी।

आम लव स्टोरी की तरह ऋषि कपूर और नीतू सिंह की लव स्टोरी में भी कई मोड़ आए। कपूर खानदान में बहुओं के लिए कुछ सख्त नियम हैं, जिन्हें नीतू ने बखूबी निभाया। शादी के बाद जब नीतू से फिल्में छोड़कर ग्रहणी बनने के लिए कहा गया तो उन्होंने बिना कुछ बोले कपूर खानदान की परंपरा को स्वीकार लिया। नीतू वे अगली साइन की हुई फिल्मों के एडवांस पैसे भी लौटा दिए थे। इस बात पर विवाद हुआ कि कपूर खानदार ने उनसे जबरदस्ती फिल्में छुड़वाई हैं। हालांकि, इस पर भी वे पति के साथ खड़ी रहीं और मीडिया को बताया कि उन्होंने खुद फिल्में छोड़ने का फैसला लिया है।

LIVE INDIA

नीतू कपूर ने अपने परिवार के लिए वह सभी त्याग और बलिदान दिया हैl जोकि हर भारतीय महिला करती हैंl नीतू कपूर को ऋषि कपूर और रणबीर कपूर की शक्ति के तौर पर भी देखा जाता हैंl नीतू कपूर ने अच्छे और बुरे समय में अपने परिवार की सुरक्षा पूरी मुस्तैदी के साथ की है l इतना ही नहीं अब जब परिवार पर इतना बड़ा संकट आया थाl उससे निपटने के लिए भी नीतू कपूर ने कमर कसी और वह जब तक ऋषि कपूर कैंसर से ठीक नहीं हो गए l तब तक उनके साथ डटी रहीं l