हिन्दी सिनेमा की पहली ड्रीम गर्ल और एक्ट्रेस, जिसने 86 साल पहले रूढ़िवादी समाज को दी चुनौती

New Delhi: 8 मार्च यानी महिला दिवस। बता दें कि आज के दिन पूरी दुनिया महिला दिवस मनाती हैं। आज हमारे समाज में कई ऐसी महिला हैं जो हजारों लोगों की प्रेरणा बन चुकी हैं। इस लिस्ट में ज्यादातर नाम फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े है। बता दें कि बॉलीवुड में खई ऐसी एक्ट्रेस हैं जो इस अपने काम से लाखों दिलों को राज पर ना सिर्फ राज करती हैं बल्कि कई को लड़के जीने की सीख भी देती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हिन्दी फिल्मों में महिलाओं को जगह दिलाने वाली पहली एक्ट्रेस कौन हैं तो चलिए आज उनके बारे में जानते हैं……….

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India
हमारी इस लिस्ट सबसे पहला नाम आता हैं बॉलीवुड की सबसे पहली ड्रीम गर्ल और एक्ट्रेस देविका रानी का। बता दें कि बहुत ही कम लोग जातने हैं कि हिन्दी सिनेमा की पहली अभिनेत्री और ड्रीम गर्ल देविका रानी हैं। हिन्दी सिनेमा आने से पहले पुरुष एक्टर ही महिलाओं का किरदार निभाते थे। भारत जैसे रूढ़िवादी देश में फिल्मों एक्ट्रेस बनने वाली देविका रानी ने अपनी पहली जीवन नैया में अपने को-एक्टर को 4 मिनट का लिप-लॉक किसिंग सीन दिया। जिस पर बाद में बहुत ही बवाल भी हुआ।

बता दें कि साल 1936 में आई इस फिल्म में देविका रानी लिप-लॉक किसिंग सीन ने उन समय के रूढ़िवादी समाज को कड़ी चुनौती थी। आज से 86 साल पहले के देविका ने अपने परिवार और रूढ़िवादी समाज की सोच के खिलाफ जाकर फिल्मों में कदम रखा, और हिन्दी सिनेमा में महिलाओं की एंट्री के द्वारा हमेशा के लिए खोल दिए। यकीनन ही हिन्दी सिनेमा में देविका रानी के योगदान का मूल्य चुका-पाना किसी एक्ट्रेस के लिए आसान नहीं हैं।