प्रियंका-निक की शादी को इस मैगजीन ने बताया-‘सबसे बड़ा धोखा’,अब देसी गर्ल ने दिया मुंहतोड़ जवाब

New Delhi: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस ने धूमधाम से जोधपुर के उमैद भवन में शादी की। दोनों ने दो रीति-रिवाज से शादी की। निक-प्रियंका की आंखों में एक दूसरे के लिए प्यार भी साफ देखा जा सकता हैँ। दोनों ने शादी के बाद दिल्ली में रिसेप्शन पार्टी रखी थी। जिसमें पीएम मोदी ने शिरकत किया था। वहीं शादी को बीते अभी 3 दिन ही हुए थे कि इन्हीं खुशियों के बीच ‘न्यूयॉर्क मैगजीन’ ने प्रियंका और निक की शादी पर सवाल उठा दिए हैं ।

न्यूयॉर्क मैगजीन की वेबसाइट ‘द कट’ पर एक विवादास्पद आर्टिकल छपा । इस आर्टिकल में मारिया स्मिथ नाम की पत्रकार ने प्रियंका को ‘आधुनिक जमाने की धोखेबाज’ महिला बताया । इस लेख में दावा किया गया, ‘निक जोनस अपनी इच्छा के विरुद्ध इस चालबाजी से भरे संबंध को निभा रहे हैं ।’

वहीं इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद कई बॉलीवुड सेलेब्स गुस्से से भड़क उठे और प्रियंका के ससुरालवालों ने इस आर्टिकल की काफी आलोचना की। इसके बाद आर्टिकल डिलीट कर दिया और नया आर्टिकल लिखा गया जिसकी हेडिंग थी- ‘प्रियंका और निक का प्यार सच्चा या झूठा?’ अब इस पर प्रियंका चोपड़ा का बयान भी आ गया है ।

टाइम्स नाऊ से बात करते हुए प्रियंका ने कहा, ‘मैं ऐसी चीज पर बात भी नहीं करना चाहती । ये मेरे लेवल का मुद्दा ही नहीं है । मैं इस समय अपनी जिंदगी के सबसे खुशनुमा पल को जी रही हूं । ऐसी चीजें मुझे और निक को प्रभावित नहीं कर सकती हैं।’ प्रियंका के इस बयान से साफ है कि वो ऐसी बातों को नजरअंदाज कर आगे बढ़ रही हैं।

बता दें कि प्रियंका के जेठ-जेठानी जोए और सोफी ने भी इस लेख की आलोचना की है। सोफी ने ट्वीट कर इस लेख को बेहद गलत बताया । वहीं जोए ने कहा, ‘ये बहुत अपमानजनक है। ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करने के लिए आपको शर्म आनी चाहिए । प्रियंका और निक एक-दूसरे से बहुत प्यार करते हैं । शुक्रिया…’

लेख की बात करें तो इसमें लिखा गया, ‘निक सिर्फ प्रेम संबंध चाहते थे लेकिन हॉलीवुड में हाल ही में कदम रखने वाली प्रियंका चोपड़ा ने उन्हें आजीवन कारावास दे दिया है ।’ लेख के मुताबिक, ‘प्रियंका और निक सेलेब्रिटीज के उन तौर-तरीकों को अपना रहे हैं जिनमें वे पैसों के लिए शादी और बच्चों की तस्वीरें मैगजीन को बेचते हैं ।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *