महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने फिल्म मिशन मंगल पर किया विरोध,कहा मराठी भाषा में नहीं होगी रिलीज

New Delhi: Mission Mangal ऐसी फिल्म है,जो साल के शुरुआत से ही चर्चा में बनी हुई है।फिल्म मंगल ग्रह पर भारत के मिशन के पीछे वैज्ञानिकों की कहानी पर यह आधारित है। लेकिन इस बार फिल्म के चर्चा में होने का कारण कुछ और ही है।

फिल्म 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देशभर में रिलीज होने के लिए तैयार है।रिलीज से पहले ही फिल्म मिशन मंगल विवादों में फंसती नजर आ रही है।महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के फिल्म डिविजन के अध्यक्ष अमेय खोपकर ने घोषणा की है कि अगर फिल्म को मराठी भाषा में डब करके रिलीज किया गया तो वह इस वर्जन को रिलीज होने नहीं देंगे।

बॉम्बे टाइम्स में छपी खबर के अनुसार अमेय खोपकर ने कहा है कि उन्हें अक्षय कुमार की फ़िल्में पसंद आती है, वह उनके बहुत बड़े फैन हैं और उनकी कई फिल्में भी देखी हैं।उन्हें अक्षय कुमार की फिल्म मिशन मंगल के निर्माताओं से कोई समस्या भी नहीं है अगर वह फिल्म हिंदी में रिलीज करते हैं लेकिन अगर वह इस फिल्म को मराठी भाषा में डब करके रिलीज करेंगे तो वह ऐसा नहीं होने देंगे।क्योंकि इससे मराठी में डबिंग होने वाली फिल्मों से मराठी इंडस्ट्री पर काफी बुरा प्रभाव पड़ेगा।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में सिनेमाघर में एक थियेटर मराठी फिल्मों के लिए आरक्षित रखा जाता है। इससे पहले भी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने एम एस धोनी की बायोपिक पर बनी फिल्म के मराठी डब वर्जन की रिलीज़ के खिलाफ प्रदर्शन की बात कही थी।

यह भी पढ़ें  आलिया भट्ट ने अपने यूट्यूब चैनल पर शेयर की अपनी शेड्यूल,सुबह उठते ही पीती है नींबू पानी

फिल्म ‘मिशन मंगल’ की बात करें तो, यह मंगलयान अंतरिक्ष मिशन पर आधारित है जिसे इसरो द्वारा 5 नवम्बर 2013 में लांच किया गया था। ये मिशन भारत का पहला मिशन था और इसके बाद, इसरो दुनिया की चौथी स्पेस एजेंसी बन गयी थी। यह फिल्म 15 अगस्त को रिलीज होगी।